भारतीय रिजर्व बैंक ने मौद्रिक नीति की समीक्षा के बाद नीतिगत ब्‍याज दरें छह प्रति‍शत के स्‍तर पर कायम रखीं

RBI announces two-day monetary policy review

भारतीय रिजर्व बैंक ने मौद्रिक नीति की समीक्षा के बाद अपनी नीतिगत ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल की अध्‍यक्षता में हुई छह सदस्‍यों वाली मौद्रिक नीति समिति की बैठक में रेपो दर को छह प्रतिशत के स्‍तर पर बरकरार रखा है। रिवर्स रेपो दर भी पांच दशमलव सात पांच के स्‍तर पर बनी रहेगी।

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि नीतिगत ब्‍याज दरों में बदलाव न करने का फैसला उपभोक्‍ता मूल्‍य सूचकांक के मध्‍यम अवधि लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने के लिए किया गया है। उर्जित पटेल ने बताया कि कुछ राज्‍यों में किसानों ऋण माफी योजना लागू होने, पेट्रोलियम उत्‍पादों पर उत्‍पाद शुल्‍क और वैट की आंशिक वापसी और कई वस्‍तुओं की वस्‍तु और सेवाकर दरों में कटौती से सरकार के वित्‍तीय संसाधानों में कुछ कमी आ सकती है।

समि‍ति ने वैश्विक वित्‍तीय अस्थिरता के कारण परिसंपत्‍तों के मूल्‍यों में अस्थिरता और अर्थव्‍यवस्‍था में संभावित गिरावट की स्थिति‍ में महंगाई के लिए नीतियां लागू करने के बारे में टिप्‍पणी की है। हालांकि समि‍ति का मानना है कि जीएसटी परिषद द्वारा करों की दर घटाकर तथा सब्जियों और खाने की चीजों की कीमतें कम करके इन दबावों को कम करना संभव है।

भारतीय रिजर्व बैंक के आज के फैसले के बाद बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक 205 अंकों की गिरावट से 32 हजार 597 पर बंद हुआ। निफ्टी 74 अंक कम होकर 10 हजार 44 पर बंद हुआ।

Related posts

Leave a Comment