सरकार ने व्‍यापारियों को जीएसटी के तहत 30 तारीख तक अपना पंजीकरण करने को कहा

Goods and Services Tax (GST)

सरकार ने व्‍यापारियों से कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर के तहत इस महीने की 30 तारीख तक अपना पंजीकरण करा लें। बीस लाख रुपये से कम के कारोबार या ऐसे कारोबारी जिनके वस्तु एवं सेवा कर जीएसटी के दायरे में नहीं आते, उन्‍हें नई व्‍यवस्‍था में पंजीकरण कराने की आवश्‍यकता नहीं है। नई अप्रत्‍यक्ष कर प्रणाली पहली जुलाई से लागू हो गई है।

वित्‍त मंत्रालय ने कहा है कि पहली जुलाई से पहले वस्‍तुओं पर अदा किए गये कर की वापसी का लाभ उपभोक्‍ताओं को मिल सकेगा और सरकार को भी पूरा राजस्‍व प्राप्‍त होगा। अगर किसी कारोबारी का व्‍यवसाय वित्‍त वर्ष में 20 लाख रुपये से अधिक हो जाता है, तो उसे 30 दिन के भीतर अपना पंजीकरण कराना होगा।

इस बीच, वित्‍त मंत्रालय ने स्‍पष्‍ट किया है कि अधिवक्‍ताओं की विधिक सेवा जीएसटी के दायरे में आती है, लेकिन कर की अदायगी मुवक्किल को ही देनी होगी। मंत्रालय ने ये भी स्‍पष्‍ट किया कि विधिक सेवा पर वस्तु एवं सेवा कर की देनदारी में कोई परितर्वन नहीं किया गया है। सेवा कर, विधिक सेवा लेने वाले व्‍यक्ति को ही देनी होगी।

Related posts