अमेरिका में विनियोग समितियों ने पाकिस्‍तान को सैन्‍य और आर्थिक मदद के लिए कठोर शर्तें लगाने का प्रस्‍ताव किया

Appropriate committees in the US proposed to impose stringent conditions for military and financial assistance to Pakistan

अमेरिका में सीनेट और प्रतिनिधि सभा की विनियोग समितियों ने पाकिस्‍तान को सैन्‍य और आर्थिक मदद के लिए कठोर शर्तें लगाने का प्रस्‍ताव किया है। समितियों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए कुछ मानक पूरा करने को कहा है। समिति ने विदेश विभाग के लिए वर्ष 2018 के वास्‍ते वार्षिक विनियोग विधेयक पारित करते हुए कहा है कि क्षेत्र में आतंकवाद से निपटने सहित अमरीका के रणनीतिक उद्देश्‍यों के लिए पाकिस्‍तान की प्रतिबद्धता के प्रति उसकी चिंता बनी हुई है। विदेश मंत्री को संसद को यह प्रमाण पत्र देना होगा कि पाकिस्‍तान, आतंकवादी संगठनों से निपटने में अमरीका के साथ सहयोग कर रहा है। इसमें जिन आतंकी संगठनों का जिक्र किया गया है वे हैं–हक्‍कानी नेटवर्क, क्‍वेटा शूरा तालिबान, लश्‍करे तैएबा, जैश ए मोहम्‍मद, अल कायदा और देश तथा विदेश के अन्‍य आतंकवादी संगठन। इन गुटों को सहायता बंद करने और आतंकवादियों को पाकिस्‍तान में पनाह देने तथा वहां की जमीन से पड़ोसी देशों पर हमले रोकना भी शामिल है।

विनियोग विधेयक में पाकिस्‍तान को तीन सौ तीस लाख अमरीकी डालर की सहायता राशि तब तक रोके रखने का प्रावधान है जब तक विदेश मंत्री, समिति को इस बारे में रिपोर्ट नहीं देते कि शकील अफरीदी को जेल से रिहा कर दिया गया है और उसे ओसामा बिन लादेन का पता लगाने में अमरीका की दी गई सहायता से संबंधित सभी आरोपों से बरी कर दिया गया है।

Related posts